गुजरात में कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मामले

गुजरात में कोरोना वायरस से संक्रमण के दो संदिग्ध मामले सामने आए हैं। दोनों संदिग्‍धों को सिविल अस्‍पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। सरकार का कहना है कि राज्‍य में कोरोना का एक भी पॉजिटिव केस नहीं है, इसलिए घबराएं नहीं लेकिन सतर्क रहें।


राज्‍य की स्‍वास्‍थ्‍य सचिव डॉ जयंती रवि ने बताया कि केंद्र सरकार की ओर से भेजी गई तीन सदस्‍यीय मेडिकल टीम राज्‍य सरकार के प्रयास व कोरोना से बचाव के लिए उठाए गए कदमों से संतुष्‍ट हैं। राज्‍य से आठ सैंपल जांच के लिए पुणे लेबोरेटरी में भेजे गए थे। इनमें से पांच नेगेटिव हैं, जबकि तीन की रिपोर्ट आनी शेष है। डॉ रवि ने बताया कि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की ओर से कोरोना को पब्लिक हेल्‍थ इमरजेंसी ऑफ इंटरनेशनल कंसर्न घोषित किया गया है, लेकिन गुजरात में कोरोना का एक भी पॉजिटिव केस नहीं है। इसको लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। सर्दी, बुखार व खांसी हो तो विशेष ध्‍यान रखने की जरूरत है। अहमदाबाद एयरपोर्ट पर चीन अन्‍य देश से आने वाले देशी विदेशी यात्रियों की स्‍क्रीनिंग, सिविल अस्‍पताल में आइसोलेशन वार्ड भी बनाया गया है। गुजरात में अब तक चीन से 930 यात्री लौटे हैं। इनमें से 246 ने 14 दिन का निगरानी पीरियड भी पूरा किया है।


Popular posts
ड्यूटी पर मुस्तैद मार्शल कंवरजीत ने उनसे पूछा कहां जाना है, पहचान पत्र दिखाएं। जवाब में संदिग्ध मरीज और साथ मौजूद महिलाओं ने बताया कि सुबह से करीब साढ़े तीन घंटे से एंबुलेंस का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन नहीं आई।
पुलिस ने जारी किया मरकज का वीडियो
नागपुर से मरकज आए 54 लोगों की हुई पहचान महाराष्ट्र के नागपुर से निजामुद्दीन मरकज में 54 लोग पहुंचे थे जिनकी पहचान कर उन्हें क्वारंटीन में भेज दिया गया है। इस बात की पुष्टि नागपुर नगर निगम के कमिश्नर तुकाराम मुंडे ने की है।
मरकज में जो कुछ भी हुआ वह गलत : आरिफ मोहम्मद खान 
मरकज भवन किया जा रहा सैनिटाइज दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज भवन जहां मार्च माह में तबलीगी जमात का आयोजन हुआ था, उसे अब सैनिटाइज किया जा रहा है। इससे पहले आज सुबह से निजामुद्दीन इलाके में सैनिटाइजेशन का काम चल रहा था।