कविता - 0..... -जुगेश कुमार गुप्ता

मै उस किताब को पढ़ना नहीं चाहता,


जिसमे हुक्मरानों की तामीली लिखी गई है,


वे सभी गौरव गाथाएँ बेकार हैं,


जिनकी बुनियाद ग़रीब मज़लूम सैनिकों की,


लाशों पर रखी गई है,


वे तमाम संस्कृतियाँ जिसमें दबाया गया है,


मेहनतकश आवाम को,


और जिनकी दुहाई देता है,


खुद को जातिगत ऊँचा दिखाने वाला वर्ग,


वे धार्मिक किताबें जो बिखेरती हैं उन्माद और


सुकून से पल रहे फिज़ाओं में जहरीली बयार,


वे तमाम अफ़साने, जिनको उबारा गया है,


कोरे कागज़ के दस्तावेजों में,


जिनकी स्याहियों में खून की गंध शामिल है,


उनका ख़तम हो जाना ही इस सभ्यता के लिए,


सूरज की नई किरण के साथ, 


सवेरे का बसेरा जैसे होगा।


                                  जुगेश कुमार गुप्ता, शोध छात्र, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, 9369242041


   


Popular posts
पुलिस ने जारी किया मरकज का वीडियो
नागपुर से मरकज आए 54 लोगों की हुई पहचान महाराष्ट्र के नागपुर से निजामुद्दीन मरकज में 54 लोग पहुंचे थे जिनकी पहचान कर उन्हें क्वारंटीन में भेज दिया गया है। इस बात की पुष्टि नागपुर नगर निगम के कमिश्नर तुकाराम मुंडे ने की है।
ड्यूटी पर मुस्तैद मार्शल कंवरजीत ने उनसे पूछा कहां जाना है, पहचान पत्र दिखाएं। जवाब में संदिग्ध मरीज और साथ मौजूद महिलाओं ने बताया कि सुबह से करीब साढ़े तीन घंटे से एंबुलेंस का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन नहीं आई।
मरकज में जो कुछ भी हुआ वह गलत : आरिफ मोहम्मद खान 
मरकज भवन किया जा रहा सैनिटाइज दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज भवन जहां मार्च माह में तबलीगी जमात का आयोजन हुआ था, उसे अब सैनिटाइज किया जा रहा है। इससे पहले आज सुबह से निजामुद्दीन इलाके में सैनिटाइजेशन का काम चल रहा था।